PlasticVsWoodenChairs

जानिए कैसे प्लास्टिक चेयर्स, वुडेन चेयर्स से हैं बेहतर ?

जैसा कि हम सब जानते हैं आज के समय में, तरह-तरह की कुर्सियां देखने को मिलती है जिनमें से ही एक है- प्लास्टिक की कुर्सी। पिछले कुछ सालों में, अपने आकर्षक रंगों, चमकदार प्रव्ति और वजन में हल्की होने के कारण प्लास्टिक की कुर्सी ने फर्नीचर मार्किट में अपना एक बेहतरीन स्थान बना लिया हैं   और लकडियों की कुर्सी को इस रेस से एक लेवल तक  बाहर निकाल दिया । जानिए क्योंलकडियों की कुर्सी का स्थान समय के साथ प्लास्टिक की कुर्सी ने ले लिया।

१। प्लास्टिक की कुर्सी होती हैं जयादा किफायती

जैसा कि आप सब जानते हैं हमें हर जगह जैसे कि  स्कूल, दफ्तर और घर में कुर्सी की आवश्यकता पड़ती ही है और बहुत बार कुर्सी को इधर उधर ले जाना पड़ता है। लकडियों की कुर्सी जैसे कि बहुत ही बडे आकार की होती है और उनका वजन भी अधिक होता है, हाँ यह बात सच है कि लकड़ी की कुर्सी जयादा मजबूत होती है। पर रोजमर्रा की जिंदगी में लकडियों की कुर्सी का स्थान बदलना असंभव सा हो जाता है।
प्लास्टिक की कुर्सी का वजन बहुत ही कम होता हैं,  यंहा तक की एक छोटा बच्चा भी उसे इधर उधर ले जा सकता हैं।

2।प्लास्टिक की कुर्सी देती हैं जेब को राहत

जैसा कि हम सब जानते हैं लकडियों की कुर्सी हमारी जेब को इतनी राहत देने में असमर्थ होती हैं। यंहा तक कि लकडियों की कुर्सी को जयादा रख रखाव की आवश्यकता पड़ती है। पर प्लास्टिक की कुर्सी हमारी जेब का खयाल भी रखती है, इसके साथ ही इनहे कम रख रखाव की आवश्यकता होती हैं।

3।प्लास्टिक की कुर्सी होती है पर्यावरण के लिए अनुकूल

हम सब ही जानते हैं, लकड़ी की कुर्सी को बनाने के लिए हजारों पेड़ों की कुरबानी दी जाती है, जो कि पर्यावरण के लिए हानिकारक हैं।
उसी जगह प्लास्टिक की कुर्सी दुबारा प्रयोग में भी लायी जा सकती हैं जिससे यह साबित होता है कि प्लास्टिक की कुर्सी पारयावरण के लिए जयादा अनुकूल होती हैं।

Plasticchairs

4। रख रखाव

लकडियों की कुर्सी को ज्यादा रख रखाव की आवश्यकता होती हैं। लकडियों की कुर्सी पानी से खराब हो जाती हैं, और इनकी मरम्मत भी महंगी पड़ती हैं। दूसरी तरफ प्लास्टिक कुर्सियों के  इतने रख रखाव की आवश्यकता नहीं होती।
आप इन्हे किसी भी प्रकार से प्रयोग में ला सकते हैं अगर मैली हो जाये तो एक बार धोने से ही आप इन्हे फिर से नया बनाकर, दोबारा प्रयोग में ले सकते हैं ।

Leave a Reply